शुक्रवार, 23 जनवरी 2009

चिट्ठा चर्चा: धोखाधडी नहीं चलेगी..

प्रस्तुतकर्ता '' अन्योनास्ति " { ANYONAASTI } / :: कबीरा :: पर 1/23/2009 08:10:00 pm
चिट्ठा चर्चा: धोखाधडी नहीं चलेगी..

1 टिप्पणियाँ on "चिट्ठा चर्चा: धोखाधडी नहीं चलेगी.."

alka sarwat on 4 सितंबर 2009 को 7:43 pm ने कहा…

मैं तो यू ट्यूब द्वारा शिक्षा की पहल पर टिपियाने चली थी ये धोखाधडी शीर्षक कहाँ से आ गया ,आपका ब्लॉग खोलना ही बहुत टिपिकल है ,हम सीधे -सादे लोग इतने दंद फंद से घबरा जाते हैं

एक टिप्पणी भेजें

टीपियाने ने पहले पढ़ने के अनुरोध के साथ:
''गंभीर लेखन पर अच्छा,सारगर्भित है ,कहने भर सेकाम नही चलेगा;पक्ष-विपक्ष की अथवा किसी अन्य संभावना की चर्चा हेतु प्रस्तुति में ही हमारे लेखन की सार्थकता है "
हाँ विशुद्ध मनोरनजक लेखन की बात अलग है ; गंभीर लेखन भी मनोरनजक {जैसे 'व्यंग'} हो सकता है '|

वैसे ''पानाला गिराएँ, जैसे चाहे जहाँ, खटोला बिछाएँ
कहाँ यह आप की मर्ज़ी ,आख़िरी खुदा तो आप ही हो ''

 

::" चौपाल :: झरोखा "::{अन्योनास्ति} Copyright 2009 Sweet Cupcake Designed by Ipiet Templates Image by Tadpole's Notez